आप जिस त्वचा में हैं उसकी देखभाल
Caring for the Skin You're in

Shilpashree Nagaraja Rao
Shilpashree Nagaraja Rao

किसी के रंग या स्थिति से कोई फर्क नहीं पड़ता, हम सभी अपनी त्वचा में जितना संभव हो उतना सहज महसूस करने के लायक हैं। इस साक्षात्कार में, विशेष अतिथि डॉ मोनिशा गुप्ता, ऑस्ट्रेलेशियन कॉलेज ऑफ डर्मेटोलॉजिस्ट की फेलो, त्वचा की स्थितियों की देखभाल करने के बारे में जानकारी देगी , जो विकलांगता का कारण बन सकती हैं। वह यह भी जानकारी देती है कि विभिन्न अक्षमताओं के लिए अंतर्निहित कारक क्या हो सकते हैं,... read more

No matter its colour or condition, we all deserve to feel as comfortable as possible in our skin. In this interview, special guest Dr Monisha Gupta, a Fellow from the Australasian College of Dermatologists, gives insight into caring for chronic skin... read more

विकलांगता समावेशी खेल ने मेरा आत्मविश्वास बढ़ाया
Adaptive Sport Boosted my Confidence

Shilpashree Nagaraja Rao
Shilpashree Nagaraja Rao

इस साक्षात्कार में मेलबर्न की प्राइमा बताती हैं कि कैसे पैरा-बैडमिंटन के जरिए अपनी विकलांगता को अपनाने से उनका आत्मविश्वास बढ़ा। प्राइमा ने 2019 विक्टोरियन पैरा-बैडमिंटन चैंपियनशिप मिश्रित युगल खिताब जीता।  read more

In this interview, Melbourne-based Prima explains how embracing her disability through para-badminton boosted her self-confidence. Prima went on to win the 2019 Victorian para-badminton championships mixed doubles title. read more

पुस्तकालय- एक प्रमुख संसाधन
Libraries: an Important Resource

Shilpashree Nagaraja Rao
Shilpashree Nagaraja Rao

पुस्तकालय में आयोजित कई ऐसे कार्यक्रमों के द्वारा लोग अपने समुदाय के लोगों से मिल सकते  है। हाल ही में पुस्तकालयों में ऐसी कई सुविधाएं की गयी है जिस से अक्षम लोगों को पढ़ने आसानी होगी। इस से वे ख़ुशी से पढ़ सकते है और अपनी जानकारी बढ़ा सकते हैं। पुस्तकालय बहुत प्रमुख भूमिका निभाती है लोगों को समुदाय में उपलब्ध संसाधनों के बारे में जानने के लिए। 

यहाँ पररामट्टा पुस्तकालय के सिटी में संसाधनों और सेवाओं की जाँच करें: ... read more

Libraries are important point of contact where people from same community or backgrounds can meet through various workshops and programs conducted  there. There have been several accessory arrangements made to make reading more enjoyable. People with disability can avail these services and get upskilled in the field of their interest.

Check out resources and services at City of Parramatta Library here: ... read more

स्वयंसेवा ने रिश्तों और आनंद के द्वार खोले"
"Volunteering opened doors to relationships and joy"

Shilpashree Nagaraja Rao
Shilpashree Nagaraja Rao

2017 मे न्यू साउथ वेल्स वालंटियर ऑफ द ईयर फाइनलिस्ट निधि शेखरन का कहना है कि स्वयंसेवा में विकलांगता समावेश एक अप्रयुक्त संसाधन है जिसके कई सामाजिक लाभ हैं। इस पॉडकास्ट में, वह बहुसांस्कृतिक विकलांगता वकालत संघ और अन्य संगठनों के लिए काम करने और स्वयंसेवा करने के अपने अनुभव को साझा करती हैं, जिन्होंने कई तरह से उनके जीवन को 'समृद्ध' किया है।  read more

2017 New South Wales volunteer of the year finalist Nidhi Shekaran says disability inclusion in volunteering is an untapped resource with many societal benefits. In this podcast, she shares her experience of working and volunteering for the Multicultural Disability Advocacy Association and other organisations that have ‘enriched’ her life in many ways. read more

टकसालियों को थोड़ना
Shattering Stereotypes

Shilpashree Nagaraja Rao
Shilpashree Nagaraja Rao

इस इंटरव्यू में, निधि शेखरन ने अपनी व्यक्तिगत कहानी साझा की, जिसमें उन्होंने जीवन में आने वाली चुनौतियों और उनसे निपटने के तरीके पर चर्चा की। वह अपने जुनून, उपलब्धियों के बारे में बात करती है, और कैसे परिवार और शुभचिंतकों ने उनका समर्थन किया । मल्टीकल्चरल डिसएबिलिटी एडवोकेसी एसोसिएशन (MDAA) में एक कर्मचारी होने के नाते, वह विकलांग लोगों के लिए समुदाय में उपलब्ध कुछ संसाधनों के बारे में और उनका लाभ कैसे उठाने की जानकारी साझा करती हैं। read more

In this interview, Nidhi Shekaran shares her personal story, discussing the challenges she faced in life and how she handled them. She talks about her passion, achievements, and how family and well wishers supported her along the way. Being an employee at Multicultural Disability Advocacy Association, she also shares information about some of the resources available in the community for people with disabilities and how one can avail them. read more

असिस्टीव टेक्नोलॉजी - एक सहायक साधन
Assistive Technology - a Helpful Resource

Shilpashree Nagaraja Rao
Shilpashree Nagaraja Rao

असिस्टिव टेक्नोलॉजी एक ऐसा माध्यम है, जिससे लोगों को आधुनिक तकनीको  का इस्तेमाल कर के , उन में उपलब्ध संसाधनों के सहायता से अक्षमता सहित बेहतर जीवन बिताने में में मदद मिलेगी। विभिन्न अक्षमताओं के लिए अलग-अलग तकनीकें हैं जैसे मनोभ्रंश, चलने-फिरने, विभिन्न वस्तुओं को धारण करने और उनका उपयोग करने के लिए, ऐसे और अधिक परिस्थितियों में इस्तमाल किया जा सकता है।

(Assistive Technology Australia) अससिस्टिव टेक्नॉलजी ऑस्ट्रेलिया ऑस्ट्रेलियाई और NSW दोनों... read more

Assistive technology is one of the methods by which people can benefit using different technologies, resources available there. There are different techniques for different disabilities like dementia, for movement, to hold and use different objects. All these kind of various Assistive technology methods are discussed here.

Assistive Technology Australia is funded by both the Australian and NSW governments, is the only service of its type in NSW and... read more